शुक्रवार, 25 सितंबर 2009

दो कार्टून..........




15 टिप्‍पणियां:

Murari Pareek ने कहा…

हा..हा.. मस्त सही है गरीबों पर सिर्फ राजनीती की जाती है , कितना कुछ कह जाते हैं कार्टून , चलो किसी ने सोचा तो सही थरूर के बारे में|

ओम आर्य ने कहा…

bahut sundar post hai aapaka ............bahut kuchh kah gaye ..........

Harkirat Haqeer ने कहा…

सही है गरीबों पर सिर्फ राजनीती की जाती है ....

सही है....!!

पं.डी.के.शर्मा"वत्स" ने कहा…

बहुत बढिया.....आपने तो इन कार्टूनों के जरिए सच्चाई ही ब्यां कर दी...गरीब तो बने ही राजनीति की खातिर हैं।।

Babli ने कहा…

बहुत बहुत शुक्रिया आपकी टिपण्णी के लिए! बढ़िया कार्टून बनाया आपने जो बहुत कुछ कह दिया! मस्त लगा! दशहरे की हार्दिक शुभकामनायें!

Vijay Kumar Sappatti ने कहा…

jai ho anuraag ji

deri se aane ke liye maafi

aapke banaye hue cartoon sacche aur saarthak hai aur mauzuda sarkaari tantr par prahaar karte hai ..

meri badhai sweekare..

regards,

vijay
www.poemsofvijay.blogspot.com

satish kundan ने कहा…

ha ha ha ....bahut badhiya kartun banya hai aapne..mere blog pe aapka swagat hai

शरद कोकास ने कहा…

मज़ा आ गया ।

rakesh pandey ने कहा…

jawab nahi aapka

विनोद कुमार पांडेय ने कहा…

बहुत खूब ..अनुराग भाई आज कल गायब सा दिखाते है कहाँ है भाई आज कल.??

निर्मला कपिला ने कहा…

हा हा हा बहुत बडिया धन्यवाद्

राज भाटिय़ा ने कहा…

बहुत सुंदर, बेचारे यह भी थक गये है

नारदमुनि ने कहा…

jandar,shandar,damdar.narayan narayan

अक्षिता (पाखी) ने कहा…

बहुत सुन्दर ..मजा आ गया.

राज भाटिय़ा ने कहा…

बिलकुल सही फ़रमाया जी, गरीबो पर राज नीति,धन्यवाद लेकिन इतने समय बाद आये, कहा गुम रहे इतने दिनो???